रविवार, 6 जनवरी 2008

वंशावली (कविता)

वंशावली

परदादा

वेदव्यास
मालपुए
कर्मकांड
दुनियादार

दादा

तुलसीदास
दूध-भात
खेती-पाती
समझदार

पिता

कार्ल मार्क्स
चना-चबेना
यूनियनबाजी
कलाकार

मैं

बेकिताब
भुखमरी
बेरोज़गारी
कर्ज़दार

(मशहूर अमेरिकी कवयित्री हाना कान के असर में. २४ दिसम्बर, २००६)

-विजयशंकर चतुर्वेदी

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें